IPC Full Form | IPC Kya Hai, IPC Ke Adhyay, Dhara

इस पोस्ट मे आपको IPC Full Form के बारे मे सारी जानकारी मिलेगी, आप मे से कई लोग IPC के बारे मे जानते होंगे पर IPC Ka Full Form Hindi तथा English मे कुछ ही लोग जानते है। तो इस पोस्ट की पुरा पढ़े और जाने इसके बारे मे साथ मे IPC की और रोचक जानकारी भी मैने इसमे दी है।

ipc full form

IPC Full Form English And Hindi

IPC Full Form English मे Indian Penal Code होता है तथा IPC Ka Full Form Hindi में भारतीय दंड संहिता होता है। इसी के साथ इसको उर्दू मे ताज इरात-ए-हिन्द कहते है। ये भारत देश मे किसी को अपराध करने पर मिलने वाले दंड के बारे मे बताता है, कि किसे क्या दंड मिलेगा अपराध के अनुसार।

  • Full Form OF IPC In Law – Indian Penal Code
  • IPC Full Form English in Hardware – Inter-Process Communication
  • IPC Meaning Hindi In Patents & Trademarks – अंतर्राष्ट्रीय पेटेंट वर्गीकरण
  • IPC Full Form Hindi in Organizations – सूचना और गोपनीयता आयुक्त (Information and Privacy Commissioner)

इसे भी देखें – Indian Constitution In Hindi

IPC Kya Hai (आईपीसी क्या है)

आईपीसी एक प्रकार का दंड देने का प्रारूप है, IPC में लगभग सभी प्रकार के अपराध के लिए दंड का प्रावधान है, भारत न्याय व्यवस्था इसी का प्रयोग करके किसी को दंड देती है।

भारत देश के भू-भाग मे रहने वाले प्रत्येक नागरिक मे से कोई अगर अपराध करता है तो उसे IPC Ki Dhara के अनुसार दंड दिया जाता है। याद रहे कोई अगर भारत के भू-भाग मे अपराध किया है तभी उसे IPC के अनुसार दंड दिया जाता है, परन्तु इसमे कुछ अपवाद है।

  • राष्ट्रपति, राज्यपाल, राजप्रमुखों
  • विदेशी सम्प्रभु
  • राजदूत
  • विदेशी सेना

IPC Ki Shururat (आईपीसी कब शुरु हुआ)

Indian Penal Code जोकि IPC Full Form है, इसको शुरु करने का श्रेय लॉर्ड मैकॉले को जाता है, इन्होंने ही भारत देश के लिए यहाँ की जनता, धर्म आदि को देखकर भारत के लिए भारतीय दंड संहिता को बनाया, जो कि 1860 मे बनकर तैयार हुआ। 1 जनवरी 1862 को यह पूरा भारत देश मे लागू हुआ।

इसके अनुसार भारत के अन्दर भारत के किसी नागरिक द्वारा किए गए अपराधों की परिभाषा तथा दण्ड का प्रावधान लागू होता है, परन्तु सेना पर नहीं, उनके लिेए नियम अलग है।

वर्तमान मे IPC मे कुल 23 अध्याय है तथा 511 धारा है इसमे, जिसमे सभी अपराध और अपकृत्य के लिेए दंड का प्रावधान दिया गया है।

इसे भी देखें – BIMSTEC Full Form

IPC Ke Adhyay (आईपीसी के अध्याय)

अध्यायविषयधारा
1प्रस्तावना या उद्देशिका1-5
2साधारण स्पष्टिकरण6-52
3दण्डों के विषय मे53-75
4साधारण अपवाद76-106
5दुष्प्रेरण के विषय107-120
5कआपराधिक षडयन्त्र120 क ख
6राज्यों के विरुध अपराध121-130
7सेना, नौसेना और वायुसेना से संबंधित अपराधों के विष्य131-140
8सार्वजनिक अपराधों के विषय में141-160
9लोकसेवको द्वारा या उनसे संबंधित अपराध161-171
10लोकसेवकों के विधिपूर्ण प्राधिकार के विरूध अवमानना172-190
11झूठा साक्ष्य तथा लोकन्याय के विरुध अपराध191-229
12सिक्के तथा सरकारी स्टाम्प से संबंधित अपराध230-263क
13माप और तौल से संबंधित अपराध264-267
14लोक स्वास्थ्य, सुरक्षा, सुविधा आदि से संबंधित अपराध268-294क
15अर्ध से संबंधित अपराध295-298
16मानव शरीर को प्रभावित करने वाले अपराध299-377
17सम्पत्ति के विरुद्ध अपराध378-462
18दस्तावेज तथा सम्पत्ति चिन्हों से संबंधित अपराध463-489
19सेवा-संविदा का आपराधिक भंजन490-492
20विवाह से सम्बंधित अपराध493-498
20कपति या पति के सम्बंधियो द्वारा निर्दयता498क
21मानहानि 499-502
22आपराधिक अभिमान, अपमान, स्पष्टिकरण503-510
23अपराध करने का प्रयत्न511

IPC से लाभ

देखा जाए तो IPC से भारत देश मे बहुत फायदा हुआ, लोग अपराध करने से पहले कई बार सोचते है, क्योंकि अगर कोई भी व्यक्ति कोई परकृत्य करता है तो उसे उसका दण्ड भुगतना पड़ेगा, इसलिए अपराध करने से समाज मे डर रहेगा तो लोग शायद ही कोई अपराध करेंगे, और एक अच्छे लोगो का समाज देश और राष्ट्र मे स्थापित होगा।

क्योंकि मेरे ख्याल से वही राष्ट्र अग्रसर होता है जहाँ अपराध कम हो। तो IPC उसी पर लगाम लगाने का काम करता है।

बाकी आपको IPC Full Form Hindi English मे कैसा लगा तथा IPC Kya Hai? IPC Ke Adhyay के बारे मे जानकारी आपको कैसी लगी जरूर बताएं, जल्द ही IPC से संबंधित और जानकारी इस वेबसाइट मे जोड़ी जाएंगी।