D.EL.ED Full Form In Hindi | D.EL.ED Kya Hai Hindi Me?

इस पोस्ट मे आप जानेंगे कि D.EL.ED kya hai? तथा d.el.ed full form क्या होता है? इसकी पूरी जानकारी आपको इस वाले पोस्ट मे मिलेगी। मैने सह पहलू जोकि d.el.ed से जुड़ी है उन सबको इसमे जोड़ा है।

आप मे से कई लोग पढ़ाई करते है। तो आप लोगो को कोई न कोई अध्यापक जरूर पढ़ाते होंगे। पर, बहुतों को यह नहीं मालूम होता है कि teacher बनने के लिए कितनी पढ़ाई और कौन सी पढ़ाई करनी पढ़ती है।

अगर आप भी teacher बनना चाहते है और बच्चों को पढ़ाना चाहते है तो आपको भी D.EL.ED करना होगा। तभी आप किसी सरकारी स्कूल मे या प्राइवेट स्कूल मे टीचर बन सकते है। तो चलिए जानते है इसके बारे मे।

d.el.ed full form in hindi

D.EL.ED Full Form

Full Form Of D EL ED in English “DIPLOMA IN ELEMENTARY EDUCATION” होता है तथा D EL ED full form in Hindi “प्राथमिक शिक्षा मे डिप्लोमा” है। इसका मतलब की प्राथमिक शिक्षा देने के लिए डिप्लोमा कोर्स। इसी कोर्स को करके आप किसी प्राथमिक विद्यालय मे शिक्षक के रूप मे पढ़ा सकते है।

इसे भी देखें- Full Form Of CO

D.EL.ED Kya Hai

अगर आपको भविष्य मे शिक्षक बनना है तो आपको अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद D El ED कोर्स करना पड़ेगा। भारत मे शिक्षक बनने के लिए कई प्रकार के कोर्स होते है। उनमे से ही एक है डी एल एड कोर्स। जिसकों करने बाद आप उस मुकाम पर पहुँच जायेंगे कि कैसे बच्चों को अच्छे से पढ़ाया जाये। इसलिए सरकारी टीचर बनने के लिए आपको यह कोर्स करना अनिवार्य होता है।

डी एल एड (D.EL.ED) कोर्स की पढ़ाई

आपको अगर डी एल एड की पढ़ाई करनी है यानी आपको डी एल एड कोर्स करना है तो आपको प्रशिक्षण परीक्षा नियामक प्राधिकारी प्रयागराज, उत्तर प्रदेश हर वर्ष नये लोगों को प्रवेश हेतु अधिसूचना जारी करती है। जिसे आपको निर्धारित समय के भीतर भरना होता है। इसके आवेदन करने के कुछ दिन या महिने बाद मेरिट लिस्ट जारी की जाती है। तो, जो लोग मेरिट लिस्ट मे आते है उन्ही को इस कोर्स मे जगह मिलती है।

मेरिट लिस्ट मे जो लोग सबसे ऊपर होते है उन्हे सरकारी कॉलेज मिलता है तथा जो लोग थोड़े नीचे पायदान पर होते है उन्हे प्राइवेट कॉलेज मिलता है। इसके बाद परीक्षा नियामक कॉउंसलिंग करता है, जिसमे केवल मेरिट लिस्ट मे आये छात्र की भाग लेते है। इसके बाद सभी छात्रों को कॉलेजों का आवंटन हो जाता है। इसके बाद आप इसकी पढ़ाई कर सकते है।

इसे भी देखें- Two Child Policy In Hindi

डी एल एड (D.EL.ED) कोर्स की अवधि

इस कोर्स की अवधि केवल दो वर्ष की होती है। यानी आप दो वर्ष का कोर्स पूरा करने के बाद टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट मे बैठ सकते है।

डी एल एड कोर्स करने के लिए महत्वपूर्ष बिंदू

  • डी.एल.एड कोर्स को करने लिए आपका कम से कम 50 प्रतिशत अंक होना अविवार्य है स्नातक मे। इसमे अन्य लोगों के लिए आरक्षित श्रेणी का आरक्षण भी नियमानुसार दिया जाता है।
  • इस कोर्स मे प्रवेश करने के लिए आपकी आयु कम से कम 21 वर्ष तथा अधिकतम 35 वर्ष की होनी चाहिए। इसमे भी आरक्षण दिया गया है।
  • D.EL.ED कोर्स मे फीस की जानकारी के लिए आप इसकी सरकारी वेबसाइट पर देखें वहाँ आपको सही जानकारी मिल जायेगी।

D.EL.ED Official Website: CLICK HERE

D.EL.ED का पाठ्यक्रम

जब आप इस कोर्स को करने लगते है तो आपको 2 वर्ष मे 4 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी होती है। तो यहाँ मैने सभी सेमेस्टर के अनुरुप विषयों की लिस्ट दे दिया है। बाकी अगर आपने D EL ED full form ऊपर नहीं देखा तो उसे जरूर पढ़ लें।

प्रथम सेमस्टर

  • संस्कृत
  • हिंदी
  • गणित
  • विज्ञान
  • कम्प्यूटर
  • बाल विकास एवं सीखने की प्रक्रिया
  • इंटर्नशिप
  • शिक्षण अधिगम के सिद्धान्त
  • सामाजिक अध्धयन
  • कला/संगीत/शारीरिक शिक्षा

द्वितीय सेमस्टर

  • विज्ञान
  • गणित
  • हिंदी
  • अंग्रेजी
  • वर्तमान भारतीय समाज और प्रारंभिक शिक्षा
  • इंटर्नशिप
  • प्रारंभिक शिक्षा के नवीन प्रयास
  • सामाजिक अध्ययन
  • समाजोपयोगी उत्पादक कार्य
  • कला/संगीत/शारीरिक शिक्षा

इसे भी देखें- UP Me Kinte Jile Hain

तृतीय सेमस्टर

  • समावेशी शिक्षा
  • विज्ञान शिक्षण
  • गणित शिक्षण
  • हिंदी शिक्षण
  • संस्कृत शिक्षण
  • उर्दू शिक्षण
  • कंप्यूटर शिक्षा
  • इंटर्नशिप
  • शैक्षिक मूल्यांकन, कियात्मक शोध एवं नवाचार
  • कला एवं संगीत शिक्षण
  • सामाजिक अध्ययन शिक्षण
  • शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य शिक्षा

चतुर्थ सेमस्टर

  • विज्ञान शिक्षण
  • गणित शिक्षण
  • हिंदी शिक्षण
  • अंग्रेजी शिक्षण
  • आरम्भिक स्तर पर भाषा के पठन/ लेखन एवं गणितीय क्षमता का विकास
  • शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशासन
  • शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य शिक्षा
  • शांति शिक्षा एवं सतत विकास
  • सामाजिक अध्ययन शिक्षण
  • कला एवं संगीत शिक्षण
  • इंटर्नशिप

डी एल एड (d.el.ed) कोर्स के बाद क्या करें?

जब आप डी एल एड कोर्स के दौरान तृती सेमेस्टर मे पहुँच जाते है तब आप टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट जैसी सरकारी टीचर की परीक्षा मे सम्मिलित हो सकते है। इसकी परीक्षा केन्द्र तथा राज्य सरकार अलग-अलग करवाती है। अधिकतर लोग इस कोर्स को सरकारी टीचर बनने के लिए ही करते है तथा कुछ लोग इस कोर्स को करने के बाद किसी प्राइवेट स्कूल मे भी पढ़ाते है।

निष्कर्ष

तो आप सभी को d.el.ed full form तथा D.EL.ED kya hai या फिर इस कोर्स की पढ़ाई तथा भविष्य मे क्या-क्या काम कर सकते है इन सबकी जानकारी मैने इस पोस्ट मे दे दी है। अगर आपको इससे संबंधि कोई और प्रश्न हो तो आप उसे जरूर पूछे और इसके शेयर जरूर करें।