cet full form in hindi

CET Kya Hai, CET Full Form In Hindi जाने सबकुछ

क्या आपको CET के बारे मे पता है? अगर नहीं! तो आप इस पोस्ट मे जानेंगे की CET Kya Hai और CET Full Form In Hindi और English मे क्या है?

आप मे से कई लोग सरकारी नौकरीयों कि तैयारी जरूर करते होंगे और आपने कई पेपर जरूर दिये होंगे। जिसमे आपको एक शहर से दूसरे शहर मे जा कर पेपर देना पड़ता है। आपको हर पेपर के लिए अगल से तैयारी करनी पड़ती है और बार-बार आपको अपने दिमाग को हर पेपर के लिए तैयार रखना पड़ता है।

तो भारत सरकार ने इन्हीं कुछ चीज़ो का बोझ छात्र-छात्राओं के ऊपर से हटाने के लिए ही CET लाया है। जो कि सभी नौकरी के तैयारी करने वालों के लिए एक बहुत अच्छी बात है। तो चलिए अब जानते है Full Form OF CET.

CET Full Form In Hindi And English

यहाँ आप यह जान लें कि CET ka full form english में Common Eligibility Test है तथा CET full form Hindi में “सामान्य पात्रता परीक्षा” होती है। जिसमे लगभग सभी केन्द्र सरकार की नौकरीयों के लिए केवल एक ही प्रारम्भिक परीक्षा का आयोजन किया जायेगा।

इससे छात्र-छात्राओं को आसानी होगी तैयारी करने मे तथा उन्हे हर परीक्षा के लिए साल भर मेहनत केवल प्रारम्भिक परीक्षा के लिए नहीं करना पड़ेगा। इस कदम से सरकार मे बच्चों के ऊपर बोझ काफी कम करने का काम किया है।

यहाँ आप ये जान लें कि केन्द्र सरकार की नौकरी यानी रेलवे, SSC, IBPS जैसी ही कुछ परीक्षा मे इसको लागू किया जायेगा। चलिए अब CET के बारे मे और अच्छे से जानते है कि यह क्या है और कब, किसपर लागू होगी यह परीक्षा।

इसे भी देखें- VDO Full Form In Hindi

cet full form in hindi

CET Kya Hai Hindi Me

भारत सरकार ने एसएससी, रेलवे बोर्ड तथा IBPS की नौकरीयों की मुख्य परीक्षा मे बैठने के लिए अगल-अलग प्रारम्भिक परीक्षा नहीं देनी होगी और इसके जगह सभी नौकरीयों के लिए केवल एक ही प्रारम्भिक परीक्षा होगी जिसे आप CET या फिर Common Eligibility Test कहते है।

पहले इन तीनों की परीक्षाओं के लिए छात्र अगल-अगल फार्म भरते थे फिर हर बोर्ड की हर नौकरी के लिए प्रारम्भिक परीक्षा देना पड़ता था जिससे छात्रों के ऊपर काफी दबाव बनता था। पर अब इन तीनो बोर्ड के लिए आपको केवल एक ही प्रारम्भिक परीक्षा देना पड़ेगा और एक ही आवेदन पत्र भरना पड़ेगा। इस परीक्षा को कराने की जिम्मेदारी NRA(National Recruitment Agency) के पास होगी।

अभी फिलहाल इन परीक्षाओं को कराने के लिए 20 से अधिक Agency है। जहाँ छात्र हर बार अलग-अलग आवेदन करते है तथा अलग-अलग जगहों पर अलग Pre की परीक्षा देते है। पर अब 2021 से इन तीनो की सभी परीक्षाओं को कराने की जिम्मेदारी NRA के पास होगी।

इसे भी देखें- CLAT Kya Hai

CET के मुख्य बिंदु

जैसा की आप पहले ही जान गये है कि तीन सरकारी नोकरी बोर्ड की प्रारम्भिक परीक्षा CET के रूप मे होगी। तो यहाँ आप इसके कुछ बिन्दु जान ले की इस परीक्षा को देने के बाद आपको क्या-क्या लाभ मिलेगा।

  • 2021 से हर साल CET की दो परीक्षा होगी, जिसमे छात्र के ऊपर कोई रोक नहीं होगी वह कितनी ही बार परीक्षा को देकर अपने अंको को और बढ़ा सकता है।
  • CET की परीक्षा मे प्राप्त अंक की वैधता 3 वर्ष की होगी। यानी आपने जो अंक पाया आप उस अंक का प्रयोग 3 साल तक सरकारी नौकरीयों के लिए कर सकते है।
  • इसमे युवा को चुनना होगा की वह परीक्षा कैसे देगा। वह चाहे तो पहले साल रेलवे की, दूसरे साल एसएससी की तथा तीसरे साल बैंकिंग की मुख्या परीक्षाओं को दे सकता है।
  • भविष्य मे अधिकतर सरकारी नौकरीयों को सरकार इसी के दायरे मे ले आयेगी।

CET की परीक्षा का प्रारूप

जैसे अभी आप किसी सरकारी परीक्षा को देते है उसी प्रकार इसकी परीक्षा होगी। इसकी परीक्षा भी Objective रूप मे होगी, इसमे कोई लिखित परीक्षा नहीं होगी।

पहले इन परीक्षाओं मे केवल दो भाषाओं मे प्रश्न पूछे जाते थे, पर CET मे 12 भाषाओं मे प्रश्नपत्र मिलेगा, जिससे भारत के हर राज्य के छात्र को पेपर देने मे आसानी होगी। भविष्य मे इस परीक्षाओं को 22 भाषाओं मे कराने का काम होगा।

Common Eligibility Test (CET) से लाभ

  • इस परीक्षा से छात्र को हर परीक्षा की तैयारी नहीं करनी पड़ेगा, उन्हे केवल एक ही बार प्रारम्भिक परीक्षा की तैयारी करनी पड़ेगी।
  • छात्र को बार-बार पेपर देने नहीं जाना पड़ेगा जिससे उनका समय और पैसा बचेगा। जिसका प्रयोग वे अपनी पढ़ाई मे कर सकते है।
  • अगल-अलग परीक्षाओं के तनाव से भी छुटकारा मिलेगा।
  • सरकार के खर्चे मे कमी होगी।
  • मुख्य परीक्षा मे बैठने के लिए प्रारम्भिक परीक्षा के नतीजों का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा।
  • इसकी परीक्षा 12 भाषाओं मे होगी।

इसे भी देखें- UP Mein Kitne Jile Hain

सीईटी परीक्षा का पाठ्यक्रम

इसकी परीक्षा तीन भाग मे होगी। जिसमे जो छात्र 10वीं के बाद इसकी परीक्षा देगा तो उसकी प्रश्न पत्र आसान होगी 12वीं तथा ग्रेजुएशन वालों से।

12वीं पास अगर छात्र देगा, तो उसका प्रश्न पत्र अन्य दोनो से अगल होगा और ग्रेजुएशन वालों की जो परीक्षा होगी, उसके भी प्रश्न 12वीं तथा 10वीं वालों से भिन्न होगी। बाकी इसमे किस-किस विषय से प्रश्न पुछे जायेंगे अभी इसकी जानकारी नहीं है। जब भी इसकी जानकारी आयेगी मै इसमे जोड़ दूंगा।

More Full Form OF CET

  • CET Full Form In Time Zones- Central European Time
  • CET Ka Full Form In Hindi- सामान्य पात्रता परीक्षा
  • CET Full Form In Universities & Institutions- College of Engineering, Trivandrum

Common Eligibility Test (CET) FAQ

CET Kya Hai?

यह केन्द्र सरकार द्वारा आयोजित नौकरीयों कि प्रारम्भिक परीक्षा है, जिसे Common Eligibility Test कहत है।

CET से किन-किन विभागों मे नौकरी मिलेगी?

अभी केवल तीन विभाग के लिए CET की परीक्षा होगी। जिसमे Railway, IBPS, SSC विभाग की नौकरीयां होगी।
यह भी ध्यान रहे केवल प्रारम्भिक परीक्षा होगी, बाकी इनकी नौकरीयों के लिए आपको अलग-अलग मुख्य परीक्षा और Interview पास करना होगा, तभी आपकी किसी विभाग मे नौकरी लगेगी।

Common Eligibility Test से फायदा क्या है?

इससे उम्मीदवार का पैसा, समय और ऊर्जा की बचत होगी। छात्रों के अलग-अलग परीक्षाओं के लिए अलग-अलग फार्म भरने मे छुटकारा मिलेगा। इससे सरकार के खर्चे मे भी कभी होगी।

CET की परीक्षा कौन-कौन दे सकता है?

इसकी परीक्षा को 10वीं, 12वीं तथा ग्रेजुएशन के छात्र दे सकते है। जिसमे हर वर्ग के छात्रों के लिए अगल-अलग परीक्षा का आयोजन किया जायेगा। अगर कोई छात्र 10वीं का हो तो, उसका प्रश्न पत्र 12वीं तथा ग्रेजुएशन वाले से आसान होगी।

सीईटी की परीक्षा कहां पर आयोजित होंगी?

इसकी परीक्षा के लिए 1000 सेंटर होंगे, जोकि भारत के हर शहर मे होगी जिससे छात्रों को शायद ही किसी अन्य जिले मे जाना पड़े।

Conclusion

अगर आपको CET Full Form In Hindi संबंधी कोई भी प्रश्न हो तो आप जरूर पुछे। प्रश्न पुछने के लिए आप नीचे कमेंट भी कर सकते है। बाकी आपको CET के बारे मे जान कर कैसा लगा जरूर बताएं तथा इसे अपने दोस्तों मे शेयर जरूर करें।