Essay On Dog In Hindi | कुत्ते पर निबंध

पोस्ट के इस भाग मे मैने Essay On Dog In Hindi डाला है। काफी लोगों को इस जीव पर भी निबंध लिखना पड़ता है तो इस कारण मैने इस पोस्ट को ऐड किया है। इसी तरह कुत्ता पर निबंध के अलावा भी किसी जीव पर निबंध चाहिए तो नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Essay On Dog In Hindi (500+ Words)

कुत्ता एक पालतू जानवर है। कुत्ते के दांत कापी तेज होते हैं जिनका प्रयोग वह मांस को खाने मे करता है। इसी के साथ इसके दो कान, एक मुंह, चार पैर, एक पूंछ, दो आंखें और एक नाक होती है। यह बहुत चालाक प्रवित्ति का जानवर है। लोग अधिक्तर इसे अपने घर मे चोरों को पकड़ने के लिए पालते है। यह बहुत तेज दोड़ता है, जोर से भौंकता है और अजनबियों पर खास ध्यान रखता है। आपको दुनिया में हर जगह कुत्ते मिलेंगे। क्योंकि जितने वफादार तथा पालतु ये होते है उतना और कोई भी जानवर नहीं होता है। इनके सूंघने की शक्ति भी काफी तेज होती है। कुत्ते स्तनपायी जीव होते है।

कुत्ते का महत्व

एक कुत्ते में गंध को पकड़ने की बहुत मजबूत शक्ति होती है। ये मनुष्य के काफी विश्वासपात्र होते है जोकि इनको पसंद करने का एक कारण हैं। ये बुद्धिमान होते हैं, हरदम चौकन्ने होते हैं। विश्व मे आपको कई रंग के कुत्ते देखने को मिल जाएंगे चाहे वर रंग, काला हो, भूरा हो, सफ़ेद हो, भूरा आदि तथा इसने मे भी ये कई प्रकार के होते हैं जैसे कि ग्रेहाउंड, जर्मन शेफर्ड, पिटबुल, ब्लडहाउंड, लैब्राडोर, रोटवीलर, बुलडॉग आदि।

कुत्तों को उनके कार्य के अनुसार वर्गीकृत किया गया है जैसे हेरिंग डॉग, गाइड डॉग, हंटिंग डॉग, स्निफर डॉग, गार्ड डॉग, पुलिस डॉग आदि। इन खोजी कुत्तों को पुलिस स्टेशनों, हवाई अड्डों, सीमाओं तथा स्कूलों आदि मे रखा जाता है।

कुत्तों का खानपान

आमतौर पर, कुत्ते मांस, दूध, चावल, मछली, रोटी आदि खाते हैं। अगर किसी जीव को मनुष्य का सबसे विश्वापात्र माना जाता है तो वह कुत्ता होता है क्योंकि उन्हें घरेलू पालतू जानवरों के रूप में भी रखा जाता है तथा पुलिस या अन्य कई कार्यों के लिए भी इनका प्रयोग किया जाता है। अगर आप तनाव, अकेलेपन, चिंता और अवसाद को झेल रहे है तो कुत्ते इसको कम करने में मदद करते है।

कुत्ता रखने का लाभ

कुत्ते अपने मालिक के प्रति बहुत वफादार होते हैं कि कोई उनको किसी भी चीज़ से लुभाए पर वे टस से मस नहीं होते है। मानव गरीब व अमीर देखता है पर जानवर ये सब नहीं देखते वह किसी के भी साथ रह लेता है चाते वह गरीब हो या अमीर, कुत्ते जब अपने मालिक को काम से घर आते देखते हैं, वे उनके पास दौड़ कर जाते है और उनके साथ खेलते है।

जिससे अगर उनका मालिक थका भी हो तो उनका मन बहला देता है कुत्ता। अगर कोई अजनबी या चोर घर मे चोरी से घुसता है तो कुत्ता उन्हे काट भी सकता है क्योंकि वह किसी अन्य के घर मे चोरी से घुसने पर बहुत सजग रहता है और काटने दौड़ता है। इसी नाते काफी लोग कुत्ते को अपनी घर की सुरक्षा तथा अपने जीवन को अच्छा करने के लिए पालते है। ये आसानी से पानी में तैर सकते है, कहीं से भी कूद सकते है तथा अन्य बहुत से कार्य से जीव कर सकते है।

कुत्ते का जीवन

कुत्तों का जीवनकाल बहुत छोटा होता है, यह जीवनकाल लगभग 12 से 15 साल तक का होता है और इसके बाद यह मर जाता है। कुछ परीस्थितियों मे ये ज्यादा भी जी लेते है अगर इनकी देखभाल अच्छे से की गई हो तो, लेकिन देखा जाता है कि छोटे कद के कुत्ते ज्यादा वर्ष तक जीवित रहते है।

लोग कुत्ते के बच्चे को पिल्ला कहते है और कुत्ते के घर को केनेल कहा जाता है। इनमें गंध को सूंघ कर जगह का पता लगाते की एक बहुत सी अच्छी खूबी होती है जिसके अक्सर पुलिस चोर व हत्यारों को पकड़ने मे करती है। इस प्रकार के कार्य के लिए कुत्तों के प्रशीक्षित किया जाता है।

निष्कर्ष

इस कुत्ते के निबंध से हमने यह जाना कि, कुत्ते बहुत-ही उत्कृष्ट तैराक होते हैं। ये वास्तव में एक बहुत ही उपयोगी तथा लाभकारी पालतू जानवरो मे से एक हैं। वे अपने मालिक का हमेशा दिल से सम्मान करते है और उनपर आंच नहीं आने देते। ये आसानी से किसी भी गंध को पकड़ कर चोर आदि का पता लगा लेते है। तो हमें इसकी अच्छी देखभाल करनी चाहिए तथा उन्हें अच्छा खाने पीने और रहने की व्यवस्था करना चाहिेए।

इसे भी देखें- Peacock Essay In Hindi

The Dog Essay 10 Lines In Hindi (100+ Words

  1. कुत्ता एक पालतू जानवर होता है।
  2. यह जानवर दुनिया में हर जगह पाया जाता है। यह एक वफादार जानवर है।
  3. लोग सुरक्षा के लिए इन्हे अपने घरों में पालते हैं।
  4. कुत्ते को भेड़िया के वंशज के रूप मे देखा जाता है।
  5. कुत्तों के दांत बहुत तेज होते हैं।
  6. दुनिया भर में कुत्तों की सैकड़ों प्रजातियां पाई जाती हैं जो रंग, रूप और आकार में एक-दूसरे से बिल्कुल भिन्न होते हैं।
  7. कुत्तों की सुनने की शक्ति बहुत तेज़ है, वह छोटी आवाज़ भी सुन सकता है। इसी के साथ सुंघने की शक्ति भी
  8. वे लगभग 12 से 15 साल की उम्र तक जीते हैं।
  9. यह एक सर्वाहारी प्रवित्ति का जानवर है यानी रोटी और मांस दोनों खा सकते हैं।
  10. घर पर रहने वाले कुत्ते ज्यादातर रोटी खाते हैं, जबकि जंगली कुत्ते मांस खाकर जीते हैं।