क़ुतुब मीनार की लम्बाई कितनी है? | Qutub Minar Ki Lambai Kitni Hai In Hindi

इस पोस्ट मे आपको क़ुतुब मीनार की लम्बाई कितनी है की जानकारी दी गई है। बहुल लोग को Qutub Minar Ki Labai Kya Hai इसकी जानकारी नहीं है और क़ुतुब मीनार कहाँ है? कुतुब मीनार कहाँ स्थित है? कुतुब मीनार किसने बनाया है? की जानकारी नहीं होती है।

तो इस पोस्ट मे आपको कुतुब मीनार के बारे मे सबकुछ की जानकारी मिलेगी। तो चलिए जानते है इसके बारे मे।

Qutub Minar Ki Lambai Kitni Hai In Hindi

Contents

क़ुतुब मीनार की लम्बाई कितनी है?

कुतुब मीनार की लम्बाई की बात करें तो यह मीनार विश्व की सबसे ऊँची मीनार है, जिसकी कुल लम्बाई 72.5 मीटर है यानी 237.86 फिट के आसपास। क़ुतुब मीनार का व्यास करीब 14.3 मीटर है साथ ही शिर के अंत तक व्यास 2.75 मीटर का हो जाता है।

इस तरह से भारत के साथ विश्व की सबसे बड़ी मीनान कुतुब मीनार है। कुतुबमीनार एक मान्यता प्राप्त पर्यटन स्थल है, जिसको मार्बल और लाल बलुआ पत्थरों से बनाया गया है। जो दिखने मे बहुत ही सुन्दर है, एक भारत की पुरातन कला का एक अद्भुत नमूना है।

इसी के साथ बहुत लोग पूछते हैं की क़ुतुब मीनार में सीढ़ियां कितनी है या यह जान लीजिए की कुतुब मीनार मे कुल 379 सीढ़ीयाँ है, जो की भारती कला से परिपूर्ण है।

Qutub Minar Ki Lambai Kitni Hai In Hindi

Qutub Minar Ki Lambai72.5 मीटर / 237.86 फिट
Qutub Minar Me Sidhi379 सीढ़ि
बनवाना शुरु करवायाकुतुबुद्दीन एबक
पूर्ण किसने करवायाशम्सुद्दीन इलतुतमिश
किस सन मे शुरु हुआ1193
क़ुतुब मीनार का व्यास14.3 मीटर

क़ुतुब मीनार का इतिहास – Qutub Minar Ka Itihaas

क़ुतुब मीनार का इतिहास भी काफी दिलचस्प है, इसको कुतुबुद्दीन ऐबक ने इस मीनार को अफ़ग़ानिस्तान में स्थित जाम की मीनार से प्रेरित होकर 1193 मे कुतुब मीनार के निर्माण का कर्य शुरु करवाया था।

यहाँ आप यह जन लें कि भारत सबसे पहला मुस्लिम शासन गुलाम वंश का था, जिसको कुतुबुद्दीन ऐबक ने किया था, परन्तु गुलाम वंश का असली शासक इल्तुतमिश को माना जाता है, क्योंकि उसने अपने आप को सुल्तान की उपाधि दी थी। जहाँ कुतुबुद्दीन ने सेवक के रूप मे कार्य किया था।

तो Qutub Minar का कार्य शुरु होने के कुछ समय बाद ही कुतुबुद्दीन ऐबक की मृत्यु हो गई, तब तक कुतुब मीनार का केवल आधार ही बना था। फिर उनका दामाद या फिर उनका उत्तराधिकारी शम्सुद्दीन इल्तुतमिश ने कुतुब मीनार का आगे का कार्य शुरु करवाया, और इसे तीन मंजिल तक पूरा करवाया था।

कुछ वर्षों के बाद 1368 मे फिरोज शाह तुगलक ने फिर से इस मीनार का काम शुरु करवाया और इसे पांचवीं और आखिरी मंजिल तक बनाकर पूर्ण करवाया। जिसे लाल बलुआ पत्थर से बनाया गया है। इसी कारण कुतुब मीनार लाल और बलुआ पत्थर से बनी भारत की सबसे ऊंची मीनार कहते है।

तो इस प्रकार से भारत देश की राजधानी दिल्ली मे स्थित यह मंजिल 72.5 मीटर की ऊंचाई के साथ सीना ताने खड़ा है और भारत की गौरव गाथा को बता रहा है। भारत के पुरातन कला के बारे मे एक झलक देता है। इस मीनार के पास एक अलाई दरवाजा बनाया गया जिसे अलाउद्दीन खिलजी ने बनवाया था।

कुवल-उल-इस्माल मस्जिद का दक्षिणी द्वार तथा अलाई दरवाजा दोनो अलाउद्दीन खिलजी के द्वारा 1311 मे बनवाया गया था। जिसमे खुदे हुए शिलाले है। इस मीनार का निर्माण इस्लामी सिद्धांतों के अनुसार किया गया है।

इसे भी पढ़ें- Kya Mai Tumhe Kuch Sikha Sakata Hoon

Qutub Minar Ki Rochak Jankariya

कुतुब मीनार किसने बनवाया था?

दिल्ली स्थित कुतुब मीनार (Qutub Minar) का निर्माण 1193 मे गुलाम वंश के शासक कुतुबुद्दीन ऐबक के द्वारा शुरु करवाया गया था। फिर जब तक यह मीनार अपने आधार तक काम तक पहुँचा तबतक कुतुबुद्दीन ऐबक की मृत्यु हो गई थी। जिसके बाद इस मीनार का निर्माण ऐबक के उत्तराधिकारी शम्सुद्दीन इल्तुतमिश ने जारी रखा और तीन मंजिल तक इस मिनार को बनवाया।

तत पश्चात 1368 मे फिरज शाह तुगलक ने, जोकि तुगलक वंश का शासक था, ने इस मीनार पर फिर से कार्य शुरु करवाया और इस मीनार मे दो मंजिल और बनवाकर इस मिनार मे कुच पांच मंजिल जो गई। जो कि पूरी तरह से लाल बलुआ पत्थर से बना था, जो कि भारत का सबसे ऊंचा मीनार है।

क़ुतुब मीनार नाम कैसे पड़ा?

Qutub Minar के नाम के बारे मे बात करे तो इस मीनार का नाम इस मीनार को बनाने वाले यानी कुतुबुद्दीन ऐबक के नाम पर रखा गया था, पर कुछ इतिहासकार इसपर मतभेद भी रखते है।

कुछ इतिहासकारों का कहना है कि, कुतुब मीनार का नाम ख्वाजा कुतुबुद्दीन बख्तियार के नाम से लिया लगा है, तो यहाँ कुछ भी कहना कठिन है क्योंकि मतभेद है। पर अधिकतर लोग कुतुबुद्दीन ऐबक के नाम द्वारा ही मानते है।

कहाँ स्थित है क़ुतुब मीनार?

भारत के मध्य भाग यानी भारत की राजधानी दिल्ली के महरौली इलाके मे कुतुब मीनार (Qutub Minar) स्थित है, जो कि लाल बहुआ पत्थर से बना है। इस मीनार को देखने भारत के साथ-साथ बाहर के देशों से भी कई लोग इसको देखने के लिए हजारो या कभी-कभी लाखों लोग आते है।

कुतुब मीनार के आसपास कौन से ऐतिहासिक धरोहरें है?

Qutub Minar के ऐतिहासिक धरोहर की बात करें, तो इसके आसपास कई सारे पूराने विरासत स्थल हैं, जैसे कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद, अलाई दरवाजा जो कि 1310 मे बने थे, जिनको अलाउद्दीन खिलजी ने बनवाया, इसी के साथ कुतुब मीनार के पार सात मीटर ऊंची अलाई मीनार है जो कि लोहे की है।

कुतुब मीनार के भीतर क्या है?

Qutub Minar मे अगर आप अंदर जाएंगे तो आप इसके काफी कुछ देखेंगे, जिसमे सबसे अच्छा है इस इमारत के अन्दर बनी कलाकृतीया और इसी के साथ इसमे 379 सीढ़ियां भी है, जो की काफी लम्बी है। इस मीनार मे हर फ्लोर पर बालकनी है जिसपर लोग खड़े होकर बाहर का नज़ारा देखते है। इसी कारण इस मीनार को देखने हजारो लोग आते है।

इसे भी पढ़ें-

Qutub Minar FAQ

कुतुबमीनार का निर्माण किसने करवाया था?

Qutub Minar का निर्माण कुतुबुद्दीन ऐबक ने शुरु करवाया तथा शम्सुद्दीन इल्तुतमिश ने इसे पूर्ण करवाया था।

कुतुब मीनार की लम्बाई कितनी है?

क़ुतुब मीनार की लम्बाई 72.5 मीटर(237.86 फीट) है या फिर 73 मीटर भी कह सकते है।

क़ुतुब मीनार कहाँ स्थित है?

कुतुब मीनार भारत में मध्य मे दिल्ली राजधानी के महरौली क्षेत्र में स्थित है।

कुतुब मीनार कितनी मंजिल है?

कुतुब मीनार कुल पांच मंजिला है।

कितने मंदिरों को तोड़कर कुतुबमीनार का निर्माण किया गया?

Qutub Minar का निर्माण 27 हिंदू-जैन मंदिरों को तोड़कर किया गया।

कुतुब मीनार के अंदर कितनी सीढ़ियां हैं?

कुतुब मीनार के अंदर 379 सीढ़ियां हैं, जो कि अच्छी नक्काशियों से सुसज्जित है।

कुतुब मीनार का निर्माण कब हुवा था?

कुतुबमीनार का निर्माण सन् 1193 ई मे शुरु हुआ तथा सन् 1368 ई तक यह मीनार पूरा हुआ था।

यूनेस्को द्वारा कुतुब परिसर को किसका दर्जा दिया गया है?

Qutub Minar को यूनेस्को द्वारा “विश्व विरासत स्थल” का दर्जा दिया गया है।

मीनार को क्या कहते है?

मीनार को गगनचुंबी ऊँची वाली इमारत कहते है।

विश्व की सबसे ऊँची मीनार कौन सी है?

विश्व की सबसे ऊँची मीनार दिल्ली में स्थित कुतुबमीनार है, तथा विश्व की दूसरी ऊँची मीनार अफ़ग़ानिस्तान में है जिसका नाम जाम की मीनार है।

कुतुब मीनार का दरवाजा हमेशा के लिए कब बंद कर दिया गया था?

4 दिसंबर 1984 को ऐसी घटना घटित हुई कि, जिससे 45 लोगों की मौत हो गई। जिसके बाद 4 दिसंबर 1984 को कुतुब मीनार का दरवाजा हमेशा के लिए बंद हो गया था।

निष्कर्ष

इस पोस्ट मे आपने जाना की क़ुतुब मीनार की लम्बाई कितनी है? कुतुब मीनार कहाँ स्थित है? कुतुब मीनार किसने बनवाया था? तो इससे संबंधित कोई प्रश्न हो आपके मन मे तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें। बाकी पोस्ट को शेयर करना न भूलें।

Leave a Comment